तुला

‘वार्षिक भविष्य – 2020’

—- डाॅ. अजय भाम्बी

तुला:

कीवर्ड:
राशि चिन्ह: तराजू
राशि तत्व: वायु
राशि स्वामी: शुक्र

वर्ष के आरम्भ में आपकी राशि से तृतीय भाव में पंचग्रही स्थिति बन रही है। जबकि 24 जनवरी को शनि आपकी राशि से चतुर्थ भाव यानि मकर राशि में आ जायेगा। कुल मिलाकर समय अच्छा रहेगा। कम्युनिकेशन के माध्यम से आपके व्यक्तित्व में विस्तार होगा। कुछ ऐसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों से मुलाकात होगी जो भविष्य में बहुत बड़ी भूमिका निभायेंगे। जब भी बड़े लोगों से मिलें तो अपनी गरिमा बनाये रखें। इस दौरान यात्राएं बहुत होंगी और आने वाले समय में उपयोगी सिद्ध होंगी। व्यापार / नौकरी के लिए अच्छा समय है। इस समय कुछ ऐसे कार्य भी होंगे जिनकी आपने उम्मीद ही छोड़ दी थी। कार्य क्षेत्र में परिवर्तन आयेगा जो आपकी बेहतरी के लिए होगा।

अप्रेल से जून के मध्य बृहस्पति अतिचारी होकर मकर राशि यानि आपके चतुर्थ भाव में प्रवेश करके शनि के साथ युति बनायेगा। यह विचित्र ग्रह स्थिति रहेगी। चतुर्थ भाव में इन ग्रहों का होना भावनात्मक तौर पर उद्वेलित करता है। किसी अपने संबंधी द्वारा ही कुछ परेशानी उत्पन्न हो सकती है। कोई आपसी रंजिस उठ सकती है जिसका प्रभाव पर्सनल और प्रोफेशनल दोनों स्तरों पर देखने को मिलेगा।

जुलाई से 20 नवम्बर के मध्य बृहस्पति वक्र गति से पुनः तृतीय भाव यानि धनु राशि में प्रवेश करेंगे। 19 सितम्बर से राहू भी वृष राशि अर्थात आपकी राशि से अष्टम भाव में आ जायेगा और केतु वृश्चिक राशि में विचरण करेगा। अतः कुछ उलझनें रहेंगी। धन संबंधी समस्याएं भी रहेंगी। परन्तु ये सब उलझनें तात्कालिक हैं। मित्रों और शुभचिन्तकों का सहयोग समय-समय पर मिलता रहेगा।

20 नवम्बर से वर्ष के अंत तक बृहस्पति मकर राशि में विचरण करेगा। यह समय भी सावधानी बरतने का है। जरा सी लापरवाही परेशानी उत्पन्न कर सकती है। कुल मिलाकर गतिशील समय है और गतिशीलता में ही जीवन है।