मीन

‘वार्षिक भविष्य – 2019’

—- डाॅ. अजय भाम्बी

मीन:

कीवर्ड:
राशि चिन्ह: मछली
राशि तत्व: जल
राशि स्वामी: बृहस्पति

जनवरी से मार्च के मध्य आपकी राशि से बृहस्पति इस अवधि में नवम भाव में रहेगा। राहू पंचम भाव में, केतु एकादश में और शनि दशम भाव में विचरण करेंगे। यह समय कुल मिलाकर आपको अच्छे परिणाम देगा। नौकरी, व्यवसाय में आगे बढ़ने की अच्छी ओपोच्र्यूनिटीज प्राप्त होंगी। वर्तमान नौकरी में पदोन्नति हो सकती है। यदि बदलाव के इच्छुक हैं तो इस दिशा में कार्य करें आपको सफलता प्राप्त होगी। व्यवसाय की दृष्टि से समय अच्छा है। विस्तार या कोई नया कार्य प्रारम्भ करना चाह रहे हैं तो उसमें आपको सफलता प्राप्त होगी। यदि विदेश में नौकरी, व्यवसाय या शिक्षा की तलाश में हैं तो उसके लिए भी समय उपयुक्त है। जो लोग परीक्षा, प्रतियोगिता या साक्षात्कार में सम्मिलित हो रहे हैं उन्हें सफलता प्राप्त होगी।

अप्रेल के महीने में प्रमुख ग्रह स्थिति इस प्रकार रहेगी। बृहस्पति 29 मार्च को शनि के साथ दशम भाव में युति बना चुका है। केतु भी इसी भाव में और राहू चतुर्थ में और ये दोनों ही ग्रह 23 मार्च को इस भाव में प्रविष्ट हुए हैं। प्रोफेशनली सडनली कुछ बदलाव का माहौल दिखेगा। कार्यों के बनने में फिजूल की रूकावटे पेश आएंगी। अधिकारियों या कलीग्स के साथ अचानक विरोध का वातावरण निर्मित हो सकता है। यह स्थिति नितांत तात्कालिक है इसलिए सीरियस रिएक्शन की आवश्यकता भी नहीं है। इमोशनल लेवल पर डिस्टर्ब हो सकते हैं अतः धैर्य और संयम से काम लें।

मई से लेकर अक्टूबर तक का समय बेहतरीन व्यतीत होगा। हालांकि एक – दो महीने अवसाद के भी हो सकते हैं। बृहस्पति पुनः 23 अप्रेल को वक्रगति से चलता हुआ नवम भाव में आ गया है। शुरू में आयी समस्याओं से निजात प्राप्त होगी। आपके आत्म विश्वास में वृद्धि होगी। बड़े मनोवेग के साथ पुनः कार्यों में जुट जाएंगे। जो लोग रोजी-रोजगार की तलाश में हैं उन्हें आशातीत सफलता प्राप्त होगी। अगर किसी कम्पीटीशन में सम्मिलित हो रहे हैं तो परिणाम बहुत अच्छे रहेंगे। जो लोग सृजनात्मक कार्य जैसे – लेखन, साहित्य, कला, संगीत, सिनेगा, डांस, म्यूजिक या स्पोर्टस से संबंध रखते हैं तो वे अपनी प्रतिभा के बल पर स्वयं को स्थापित करने में सफल रहेंगे।

जुलाई, अगस्त, सितम्बर के महीने विशेष रूप से अच्छे रहेंगे। यदि नौकरी में बदलाव चाह रहे हैं या नौकरी की तलाश में हैं या कोई नया व्यवसाय प्रारम्भ करने का प्लान बना रहे हैं तो ये महीने विशेष रूप से अच्छे हैं। इनमें यदि कुछ नया करेंगे तब आपको अच्छी सफलता भी मिलेगी।

मई – जून के महीने थोड़े नरम हैं। इन महीनों में रिस्क टेंकिंग कार्यों से दूर रहना चाहिए।

नवम्बर – दिसम्बर के महीनों में ग्रह स्थिति इस प्रकार रहेगी। बृहस्पति 5 नवम्बर को धनु राशि में आकर शनि और केतु के साथ युति बना चुका है और राहू चतुर्थ भाव में विचरण कर रहा है। कार्यस्थल पर व्यर्थ की उलझनें पेश आएंगी। किसी प्रोजेक्ट पर जिस पर आप काफी समय से कार्य कर रहे हैं उसको लेकर सीनियर्स और कलीग्स के साथ मतभेद हो सकता है। आॅफिशियल वर्क को लेकर बीच-बीच में अवसाद झेलना पड़ सकता है। पूंजी निवेश संबंधी कार्य चाहे व्यवसायिक हों या पर्सनल जैसे प्रोपर्टी आदि उनमें इंवेस्टमेंट तब तक नहीं करना चाहिए जब तक स्थिति स्पष्ट न हो जाये। कंफ्यूजन की स्थिति में मित्र-शुभचिंतकों के साथ परामर्श आपके लिए काफी सहायक सिद्ध होगा।

परिवारः

पारिवारिक दृष्टि से कुल मिलाकर यह वर्ष काफी अच्छा है। बृहस्पति के शुभ होने के कारण पारिवारिक वातावरण खुशनुमा बना रहेगा। आपसी जनों में प्रेम भाव भी पनपेगा। परिवार में मांगलिक कार्य का योग चल रहा है। यह स्थिति जनवरी से मार्च के मध्य सम्पन्न हो सकती है या जुलाई से अक्टूबर के बीच। परिजनों के साथ पर्यटन पर जाएंगे। ये कोई रमणीक स्थान भी हो सकता है या कोई धार्मिक स्थल।

धन सम्पत्तिः

धन सम्पत्ति की दृष्टि से यह वर्ष उत्तम है। स्वयं की सूझबूझ और आत्म विश्वास से जो निर्णय लेंगे वे आपको बहुत अच्छे फल भी प्रदान करेंगे। जमीन, जायदाद, फ्लैट या आॅफिस स्पेस खरीदने का प्रबल योग बन रहा है। अगर कोई पैतृक सम्पत्ति मिलने को है और उसको लेकर डिसप्यूटस हैं तो उनके हल होने की संभावना बन रही है। आपसी विचार विमर्श से भी मसला हल हो सकता है।

कार्यक्षेत्रः

कार्य क्षेत्र की दृष्टि से भी वर्ष काफी सहायक है। इस वर्ष आप अपनी उन योजनाओं और प्लानिंग को व्यवहार में ला पाएंगे जिन पर आप काफी समय से काम कर रहे थे। अन्यत्र हमने कुछ महीनों का जिक्र किया हुआ है जैसे – अप्रेल, नवम्बर और दिसम्बर, ये माह कमजोर हैं अतः इन महीनों में बहुत जोश-खरोश के साथ योजनाओं पर कार्य नहीं करना चाहिए। धैर्य और संयम को सारथी बनाये आपको सफलता प्राप्त होगी।

सेहतः

कुल मिलाकर इस वर्ष सेहत का सितारा अच्छा है। इसलिए ज्यादातर सेहत अच्छी रहेगी। हमारी मान्यता है जेनेटिकली जो हैल्थ हमको मिलती है वो मात्र 60 प्रतिशत होती है। 40 प्रतिशत हमारे व्यवहार, क्लाईमेट और आदतों पर निर्भर करती है। इस 40 प्रतिशत को साधेंगे तो साल भर स्वस्थ रहेंगे। अन्यत्र कुछ कमजोर महीनों का जिक्र है उसका अवश्य ध्यान रखें।

ज्योतिषीय उपायः

उपाय की दृष्टि से अगर 7 मुखी, 12 मुखी और 14 मुखी रूद्राक्ष पहनेंगे तो इस वर्ष आकाश से ज्यादा लाभ उठा पाएंगे। पुखराज, मोती और मूंगा रत्न बेझिझक धारण किये जा सकते हैं।

क्या करेंः

अधिकतर यह वर्ष बहुत अच्छा है। यदि इस समय का भरपूर लाभ उठा पाएंगे तो अपनी स्थिति में सुखद बदलाव ला सकते हैं। उन महीनों में विशेष सावधान रहें जिनका इस राशिफल मे जिक्र किया हुआ है।

क्या न करेंः

एक पुरानी कहावत है कि समय से पहले और किस्मत से ज्यादा नहीं मिलता। इस राशिफल में वो समय अंकित किया जा चुका है जिसका सदुपयोग कर लाभ को बढ़ा सकते हैं और हानि को घटा सकते हैं।