मकर

‘वार्षिक भविष्य – 2019’

—- डाॅ. अजय भाम्बी

मकर:

कीवर्ड:
राशि चिन्ह: बकरा
राशि तत्व: पृथ्वी
राशि स्वामी: शनि

जनवरी से मार्च के मध्य का समय बेहतरीन व्यतीत होगा। इस अवधि में बृहस्पति आपकी राशि से एकादश भाव में चलेगा और राहू सप्तम स्थान में। आर्थिक क्षेत्र में किये गये प्रयास अत्यधिक लाभदायक सिद्ध होंगे। रूके हुए या फंसे हुए धन के मिलने की भी संभावना है। अगर किसी महत्वाकांक्षी योजना के लिए बैंक, किसी वित्त संस्थान या सरकार से लोन लेने का प्रयत्न कर रहे हैं तो इसमें आपको सफलता प्राप्त होगी। जो लोग परीक्षा, प्रतियोगिता में सम्मिलित हो रहे हैं उन्हें आशातीत सफलता प्राप्त होगी। अगर कोई मामला कोर्ट – कचहरी में चल रहा है और उसका फैसला आने को है तो यह फैसला आपके पक्ष में रहेगा। विरोधी चाहकर भी अपने मनसूबों में असफल ही रहेंगे।

अप्रेल का महीना थोड़ा कमजोर है। बृहस्पति 29 मार्च को द्वादश भाव में आ चुका है और राहू 23 मार्च को मिथुन राशि में और केतु धनु राशि में संक्रमण कर चुका है। व्यर्थ की उलझनें बढ़ेंगी। कार्यों के बनने में मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। धन संबंधी मामलों विशेषकर पूंजी निवेश पर बिना सोचे-समझे अमल नहीं करना चाहिए। प्रोफेशनल स्तर पर सीनियर्स या कलीग्स के साथ मतभेद भी ऊभर सकते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी समय कमजोर है। स्वयं या किसी परिजन का स्वास्थ्य भी गफलत में डाल सकता है। सोच-विचार कर ही महत्वपूर्ण कदम उठाने चाहिए।

मई से अक्टूबर का समय काफी अच्छा रहेगा। बृहस्पति 23 अप्रेल को वक्रगति से पुनः वृश्चिक राशि में प्रवेश कर चुका है। वर्तमान नौकरी, व्यवसाय में सुखद स्थितियां निर्मित होंगी। यदि रोजी-रोजगार के लिए प्रयत्नशील हैं तो उसमें मनमाफिक सफलता मिलने के चांसिज भी बने हुए हैं। जो लोग सामाजिक या राजनैतिक क्षेत्र से जुड़े हैं उन्हें भी इस दौरान कोई विशेष लाभ हो सकता है। भूमि, बंगला, फ्लैट या वाहन खरीदने का योग चल रहा है। मई – जून – जुलाई में गोचर के हिसाब से सूर्य और मंगल की स्थिति ठीक रहेगी जिसके फलस्वरूप ब्यूटीफुल एन्वायरामेंट देखने को मिलेगा जहां आप अपने प्रोजेक्टस या प्लानिंग को आसानी से अमल में ला सकते हैं। अगर आप आयात-निर्यात से संबंध रखते हैं या विदेश में कुछ करना चाहते हैं तो उन सब कार्यों के लिए भी ये सब महीने बहुत शुभ हैं। इस दौरान छोटी-बड़ी कई यात्राएं होंगी जो आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगी। पारिवारिक सुख में वृद्धि होगी और परिवार में कोई मांगलिक कार्य भी संपन्न हो सकता है। इस पूरे समय के दौरान ना केवल उत्साह से भरे रहेंगे बल्कि आपकी मान-प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी।

नवम्बर – दिसम्बर के महीने थोड़े नरम हैं। बृहस्पति 5 नवम्बर को द्वादश भाव में आकर शनि और केतु के साथ युति बनाएगा। इस दौरान किसी बने बनाये कार्य में भी व्यवधान आ सकते हैं या जिस कार्य के शुरू करने के आसार बने हुए थे वो मामला एकदम खटाई में पड़ सकता है। इस दौरान आप अपने लोगों के षड़यंत्र का शिकार भी हो सकते हैं इसका भी ध्यान रखें। व्यय की अधिकता बनी रहेगी और फंडस अरेन्ज करने में तात्कालिक रूप से दिक्कत आ सकती है। इस दौरान परिवार के किसी बुजुर्ग या शिशु के स्वास्थ्य को लेकर भी पीड़ा झेलनी पड़ सकती है। ऐसी यात्रा में शरीक नहीं होना चाहिए जिसके बारे में आप पूरी तरह से आश्वस्त न हों।

परिवारः

परिवार की दृष्टि से यह वर्ष बहुत अच्छा है। पारिवारिक सुख-समृद्धि में वृद्धि होगी और परिजनों में प्रेम-सदभाव भी देखने को मिलेगा। जनवरी से मार्च या फिर मई से सितम्बर के मध्य परिवार में कोई मंगल कार्य जैसे – विवाह या शिशु जन्म हो सकता है। परिजनों के साथ रमणीक और धार्मिक स्थलों की यात्रा के योग भी बन रहे हैं। कुल मिलाकर पारिवारिक समय आनंदमय व्यतीत होगा।

धन सम्पत्तिः

इस वर्ष बृहस्पति की स्थिति लगभग साल भर ही अच्छी है जिसके फलस्वरूप आर्थिक स्थिति में इजाफा होगा और धन का कोई नया स्रोत भी प्राप्त हो सकता है। जो लोग स्वरोजगार या देश-विदेश से बिजनेस में संलग्न हैं उनके लिए यह वर्ष विशेष रूप से अच्छा है। जमीन-जायदाद, फ्लैट या वाहन आदि में इंवेस्टमेंट का योग भी बन रहा है।

कार्यक्षेत्रः

इस वर्ष आपको बहुत अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। यदि आप उनका लाभ उठायेंगे तो बल्ले-बल्ले हो जायेगी। वर्तमान नौकरी, व्यवसाय में न केवल आपकी कार्यप्रणाली की तारीफ होगी बल्कि आपको कोई नयी रेस्पोंसीबिलिटी भी मिल सकती है। जो लोग परीक्षा, प्रतियोगिता या साक्षात्कार के माध्यम से रोजी-रोजगार की तलाश में हैं उन्हें निराश नहीं होना पड़ेगा। अगर विदेश में रोजगार ढूंढ रहे हैं तो इस दिशा में भी आपको सफलता मिलेगी।

सेहतः

सेहत की दृष्टि से कुल मिलाकर यह वर्ष काफी अच्छा है। हमारा बहुत गहरे में विश्वास है कि सेहत को बाजार से खरीदा नहीं जा सकता। इसके लिए संकल्पवान होकर यम, नियम और अनुशासन में रहते हुए योग, जिम या जो भी एक्सरसाईज आपको भली लगे उसके लिए समर्पित भाव से समय निकालना चाहिए। अप्रेल, नवम्बर, दिसम्बर के महीने स्वास्थ्य की दृष्टि से कमजोर हैं। इन दिनों स्वयं व परिजनों के स्वास्थ्य के प्रति भी सजग रहना चाहिए।

ज्योतिषीय उपायः

10 मुखी, 12 मुखी और 14 मुखी रूद्राक्ष जीवन पर्यन्त पहन सकते हैं। यदि इस वर्ष धारण करेंगे तो विशेष लाभ होगा। आपकी राशि के रत्न – हीरा, पन्ना और नीलम हैं। इन्हें सेफली धारण किया जा सकता है।

क्या करेंः

यह वर्ष विशेष रूप से अच्छा है। वर्ष पर्यन्त भाग्य का सहयोग बना रहेगा। यदि अपने प्रयत्नों में पैनापन लाएंगे तो लाभ को कई गुना किया जा सकता है।

क्या न करेंः

अप्रेल, नवम्बर, दिसम्बर के महीनों में जोखिम उठाने से हानि हो सकती है इस बात का अवश्य ध्यान रखें।