कन्या

‘वार्षिक भविष्य – 2019’

—- डाॅ. अजय भाम्बी

कन्या:

कीवर्ड:
राशि चिन्ह: कुमारी
राशि तत्व: पृथ्वी
राशि स्वामी: बुध

जनवरी से मार्च के मध्य जहां बृहस्पति तृतीय भाव में रहने वाला है वहीं राहू की स्थिति एकादश भाव में शुभकारी है। शनि चतुर्थ भाव में बहुत अच्छा नहीं है। इस सबके बावजूद भी यह समय आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा। कार्यवश यात्राएं करना पड़ेंगी और ये यात्राएं आपके लिए काफी शुभदायक रहेंगी। कम्युनिकेशन स्किल आपका प्लस पाॅईंट है और इन दिनों आप जितना उसका उपयोग करेंगे उतना ही आपको लाभ प्राप्त होगा। किसी महती योजना में प्रवेश हो सकता है। आपके संपर्क के दायरे का विस्तार होगा और महत्वपूर्ण व्यक्तियों के साथ बराबरी के संबंध बनेंगे। आर्थिक दृष्टि से यह समय बहुत अच्छा है। आय में वृद्धि एवं अतिरिक्त आय का कोई स्रोत भी प्राप्त हो सकता है।

अप्रेल का महीना नाजुक रहेगा। बृहस्पति 29 मार्च को चतुर्थ भाव में स्थित शनि और केतु के साथ युति बना चुका है। हालांकि यह मात्र कुछ दिन ही इस राशि में रहेगा लेकिन इस महीने सावधानी बरतने की आवश्यकता है। अपने व्यवहार और वाणी पर विशेष नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। जरा सी चूक महंगी साबित हो सकती है इस बात का अवश्य ध्यान रखें। इमोशनल लेवल पर भी डिस्टर्ब हो सकते हंै। आपसी जनों से मतभेद टालना ही आपके हित में रहेगा।

मई से अक्टूबर के मध्य मिले-जुले परिणाम मिलेंगे लेकिन कुल मिलाकर परिणामों का सिलसिला आपके पक्ष में रहेगा। बृहस्पति वक्रगति से पुनः आपकी राशि से तृतीय स्थान में आ जायेगा और राहू की स्थिति दशम भाव में सराहनीय रहेगी। नौकरी, व्यवसाय आदि के क्षेत्र में आगे बढ़ने के सुवसर प्राप्त होंगे। उच्च शिक्षा या नौकरी, व्यवसाय आदि के लिए विदेश जाने के इच्छुक हैं तो अपने प्रयत्नों में कमीं न आने दें आपको निश्चित सफलता प्राप्त होगी। मई – जून – जुलाई के महीने निश्चित रूप से अच्छे रहेंगे। इन दिनों आप जिस भी कार्य में हाथ डालेंगे उसमें आपको सफलता प्राप्त होगी। जमीन-जायदाद, वाहन आदि के खरीदने का योग भी बन रहा है। यदि कोई पैतृक प्रोपर्टी मिलने वाली है या प्रोपर्टी को लेकर कोई डिस्प्यूट चल रहा है उसे आपसी सहमति से सुलझाने का प्रयास करेंगे तो यह कार्य आसानी से सिद्ध होगा।

अगस्त-सितम्बर के महीने थोड़े कमजोर साबित हो सकते हैं। इन दिनों पूंजी निवेश संबंधी योजनाओं को स्थगित रखना ही आपके लिए श्रेयश्कर रहेगा। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह समय कमजोर है अतः अपने और परिजनों के स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।

नवम्बर – दिसम्बर के महीने थोड़े कमजोर सिद्ध हो सकते हैं। बृहस्पति 5 नवम्बर को धनु राशि में प्रवेश कर जायेगा और यहां पर शनि और केतु की युति पहले से ही है। प्रोफेशनल लेवल पर थोड़ी असुविधाओं का सामना करना पड़ेगा। जल्दबाजी में लिए गये निर्णय आपके खिलाफ जा सकते हैं इस बात का अवश्य ध्यान रखें। वाद-विवाद को टालना ही आपके लिए श्रेयकर रहेगा। इमोशनल इस्यूज भी तनाव पैदा कर सकते हैं। अतः धैर्य और संयम बरतने की आवश्यकता है। मित्र-शुभचिंतकों का सहयोग बना रहेगा और यदि कोई ऐसी स्थिति बने जहां पर आप कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेने से सकुचा रहे हैं तो इन लोगों से परामर्श लेना आपके लिए सहायक सिद्ध होगा। इन महीनों में अचानक यात्रा का योग बन सकता है और ये यात्रा बहुत ही सहायक रहेगी।

परिवारः

पारिवारिक दृष्टि से यह वर्ष मिले-जुले परिणाम प्रदान करेगा। जहां एक और कुछ ऐसे सुखद अवसर होंगे कि परिवार में उत्सव का सा माहौल देखने को मिलेगा। जिसमें विवाह, शिशु जन्म या और कोई उत्सव सम्पन्न हो सकता है। वहीं दूसरी और फरवरी और नवम्बर – दिसम्बर के महीनों में परिवार में कुछ मुश्किलें भी आ सकती है। यदि विपरीत समय में आपसी सदभाव और मेल बना रहे तो आदमी बड़े से बड़े संकट का भी सामना कर सकता है। इस बात को आप सब ध्यान में रखें।

धन सम्पत्तिः

आर्थिक दृष्टि से जनवरी, फरवरी, मार्च के महीने विशेष रूप से अच्छे हैं। इन दिनों अकस्मात कोई ऐसी डील या सौदा बन सकता है जो आपको पर्याप्त मात्रा में लाभ दे। धन की दृष्टि से मई, जून और जुलाई के महीने भी बहुत अच्छे हैं। विदेश या दूरदराज जगह से भी धन लाभ का योग बन रहा है।

कार्यक्षेत्रः

कार्यक्षेत्र की दृष्टि से इस वर्ष आपको कई बहुत अच्छे आॅफर्स प्राप्त होंगे। यदि उनका ठीक से उपयोग कर सकेंगे तो न केवल लाभ होगा बल्कि स्टेटस में भी वृद्धि होगी। वहीं कुछ महीनों का अन्यत्र जिक्र किया हुआ है उस दौरान सावधानी बरतें वरना व्यर्थ की उलझनें भी मोल ले सकते हैं।

सेहतः

हमारा ऐसा मानना है कि एक समय के बाद सेहत रोज अर्न करना पड़ती है। इसे आपसे बेहतर कौन समझ सकता है क्योंकि जनरली आप हैल्थ के प्रति बहुत कोंसियस व्यक्ति हैं। अगर सावधानी और नियम से चलेंगे तो स्वास्थ्य कुल मिलाकर अच्छा रहेगा वरना उन महीनों पर अवश्य गौर कर लें जिनका जिक्र हमने इस राशिफल में किया हुआ है। यह सूत्र परिजनों के लिए भी लगता है।

ज्योतिषीय उपायः

अगर 14 मुखी या 15 मुखी रूद्राक्ष धारण कर सकते हैं तो इस वर्ष में आने वाली बहुत सारी समस्याओं से निजात भी पा सकते हैं। पन्ना, हीरा और नीलम सेफली धारण किया जा सकता है।

क्या करेंः

जिस समय और महीनों को खासतौर से अच्छा बताया गया है उस समय का भरपूर इस्तेमाल करेंगे तो आपको बहुत सारी समस्याओं से मुक्ति मिल सकती है।

क्या न करेंः

उन महीनों में विशेष सावधनी रखें जो आपकी राशि से कमजोर हैं। ऐसा करने से कई सारे झंझटों से राहत प्राप्त होगी।